Director Message

जीवन ज्योति संस्थान (NGO) परिवार की ओर से आप सभी का मै प्रदीप कुमार इंद्रजीत हार्दिक स्वागत करता हूँ | मेरी आदर्श मेरी माँ स्व. श्री मति भगवती (जून १९५० से २१ जनवरी २०१९) जिनकी प्रेरणा से मेरे मन में समाज सेवा का भाव जाग्रत हुआ | वो स्वाभाव से ही मृदुभाषी, सहज, सरल, धार्मिक और दयालु थीं, और उन्ही की प्रेरणा से मैंने इस समाज सेवा रूपी कारवाँ को आगे बढ़ाने का जिम्मा उठाया है|

जीवन ज्योति संस्थान के संस्थापक मेरे पिता जी श्री इंद्रजीत वर्मा ने पूरा जीवन समाज सेवा में लगा दिया उन्होंने समाज के गरीब, दलित, शोसित, पिछड़े, तबको के पुनस्थान में लगा दिया |

शुरू से ही मेरी माँ और पिताजी ने बढ़चढ़ कर लोगो के भले के लिए काम किया | उनके आशीर्वाद और आप सभी की  दुआओ से मुझे शक्ति मिलेगी और में इस नेकी की श्रृंखला को मरते दम तक टूटने नहीं दूंगा | आप सभी के सहयोग एवं आशीर्वाद की कामना करता हूँ |

जीवन ज्योति संस्थान का कार्यक्षेत्र उत्तर प्रदेश था, लेकिन अब हमारा कार्यक्षेत्र भारत सरकार ने सम्पूर्ण भारत वर्ष कर दिया है | संस्थान ग्रामीण विकास, तकनीकी कृषि, जल संचय, वृक्षारोपण, महिला उत्थान, महिला शसक्तिकरण, वित्तीय सारक्षरता, कुपोषण, लघु बैंकिंग, स्वयं सहायता समूह, सयुंक्त देयता समूह एवं समाज के विभिन्न वर्गों को साथ लेके उनके उत्थान के लिए कार्य कर रहे है |

हम जीवन ज्योति संस्थान को नए नवाचारों और समुदाय को सेवाओं की गुणवत्ता के साथ मिश्रित सीखने के साथ आगे बढ़ाने के लिए करते है |

जीवन ज्योति संस्थान की ओर से व्यक्तिगत रूप से मै प्रदीप कुमार इंद्रजीत उन सभी के प्रति हार्दिक  धन्यवाद और आभार व्यक्त करना चाहता हूँ, जिन्होंने जीवन ज्योति संस्थान के अश्तित्व और समय की गुणवत्ता को देखते हुए अपने वित्तीय, प्रोग्रमाटिक, संगठनात्मक, तकनीकी मार्गदर्शन को हमारे सामने बढ़ाया है|

मै अपने व्यक्तिगत प्रायोजकों और भागीदारों को समय पर समर्थन और एकजुकता के लिए ईमानदारी से धन्यवाद देता हूँ | आपके और हमारे संयुक्त प्रयास से हमने अपने समाज के वर्गों के बीच  कई क्रन्तिकारी  बदलाव हासिल किये है | अतीत मै आपके सभी विस्तारित सहयोग के लिए धन्यवाद और भविष्य मेँ भी बहुत आत्मियता और समर्थन के साथ की उम्मीद करे |

हम पर विश्वास जताने से हम निश्चित मील के पत्थर हासिल करना सुनिश्चित करते है जो हम भविष्य के प्रोजेक्ट/कार्यक्रमों मेँ करना चाहते है |

 प्रदीप कुमार इंद्रजीत  (डायरेक्टर,  जीवन ज्योति संस्थान)  माँ स्व. श्री मति भगवती